Monday, 26 March 2018

God

एक पंडित रास्ते से जा रहा था कि इतने में उसका 10 रूपए का सिक्का नाला में गिर गया ।

ब्राह्मण बेचारा वही बैठ कर बोलने लगा

ब्राम्हण :   या अल्लाह मेरी मदद कर या अल्लाह मेरी मदद कर

तभी रास्ते में एक आदमी जा रहा था उसने ब्राह्मण के पास आया और बोला -"क्या हुआ महाराज?"

ब्राह्मण : मेरा 10 रुपये का सिक्का नाले में गिर गया है और मैं अल्लाह से मदद मांग रहा हूँ

आदमी : पर आप तो ब्राह्मण हो अल्लाह को क्यों पुकार रहे हो

ब्राह्मण : अबे गधे!! उल्लू के पट्ठे, तू का चाहत है 10 रूपये के लिए हनुमान जी को नाले में कूदा दू

आदमी(बेहोश)











No comments:

Post a Comment