Thursday, 29 March 2018

Smart City

Smart City

As soon as the road came out of the house, the road started running on its own. As soon as I reached the Chingam Dusty dustbun came forward myself. The cow was walking around the dipper bind. Everything was a dream, suddenly the road was rolling. Dropped down from

MP's  Adopted  Village

When the road reached the village, I saw that the robots were holding the field. Kisan was sitting in the AC office, in the middle of the farm, was taking control of the robot, sipping the coffee, the house of everybody had become the aircondition palace, on one side of the road, the milk pond On the other side there were moles of moles

Twenty million jobs / years, nowadays, young men like me are hiding because the government is catching up and recruiting government jobs. Once the black blankets were taken from me and put the tehsildar on, it was difficult to run away, then the government Unemployed started importing from abroad

 1 head = 10 heads

 Like unemployed, at 11 o'clock in the morning, seeing the newspaper lying on the head, Cena became 112 inches. I did not believe in my eyes. Pakistan's name was changed to Panchmapur. Now the soldiers of Panchmapur were protecting our borders.

INR 1 = $ 10

One evening we were sitting in the unemployed circle, suddenly came to the USA. The Embassy went to the embassy, the trump was sitting on the chair on the door for the seal itself; on seeing his eyes filled his eyes and fell into the feet, I kept silenting him by looking at the money. Said now my mother will not be treated without treatment

Dokalmal was coming back from the US Embassy, then suddenly saw the protests showing the protests of Momoose Chaumin Vallo on the streets of Chanakyapuri Delhi, while watching the jinging Kali Patti Dam, the banner of India GO Beck was giving them the freedom to free China.

 Everything is so amazing

https://goo.gl/5pzpBh

Any day and I will imagine it is not necessary to believe that anyone can imagine it is a fool



स्मार्ट सिटी

जैसे ही घर से बहार निकला सड़क अपने आप चल पड़ी फिर मैंने जैसे ही चिंगम फेंकी डस्टबिन अपने आप आगे आ गया पार्क में गाय डाईपर बाँध के घूम घूम रही थी सबकुछ एक सपना सा लग रहा था अचानक सड़क धड़धड़ाने लगी देखा तो घरवाली नेे खाट पे से नीचे गिरा दिया 

सांसद का गोद लिया गाँव 

सड़क चलते चलते गाँव में पहुँची तो देखता हूँ कि रोबोट खेत जोत रहे थे किसान खेत के बीच में बने AC ऑफिस में बैठे कॉफ़ी की चुस्की लेते रोबोट को कंट्रोल कर रहे थे सबके घर एयरकंडिशन महल बन चुके थे सड़क के एक तरफ दूध का तालाब तो दूसरी तरफ मख्खन के टीले थे

2 करोड़ जॉब्स/साल आजकल मेरे जैसे कामचोर नौजवान छुपते घूम रहे हैं क्योंकि सरकार पकड़ पकड़ कर सरकारी नौकरियों पे भर्ती कर रही है एक बार काला कम्बल मेरे पे डाल के ले गए और तहसीलदार भर्ती करने लगे मुश्किल से जान बचा के भागा फिर सरकार ने बेरोजगार विदेशों से आयात करने शुरू कर दिए

 1 सिर = 10 सिर

 बेरोजगारों की तरह सुबह 11 बजे उठा नजर अख़बार पे पड़ी हैडिंग देखते ही सीना 112 इंच का हो गया मुझे अपनी आँखों पे विश्वास नही हो रहा था पाकिस्तान का नाम बदल कर पँचमपुर रख दिया गया अब पँचमपुर के सैनिक ही हमारी सीमाओं की रक्षा कर रहे थे

10 डॉलर = 1 रुपया 

एक शाम हम बेरोजगारों की मंडली बैठी थी अचानक मन किया US घूम आते हैं एम्बेसी गये ट्रम्प खुद मोहर लिए दरवाजे पे कुर्सी डाले बैठा था, देखते ही उसकी आँखे भर आयी और पैरों में पड़ गया मैंने 

INR₹100 दे कर चुप कराया तो पैसे देख कर बोला अब मेरी माँ बिना इलाज नही मरेगी

डोकलाम US एम्बेसी से वापिस आ रहे थे तो अचानक चाणक्यपुरी दिल्ली की सड़कों पे मोमोज चाउमीन वालो का विरोध-प्रदर्शन दिखा जिज्ञासा जागी तो देखा जिनपिंग काली पट्टी बांध इंडिया गो बेक का बैनर हाथ में लिए चीन को मुक्त करने की दुहाइयाँ दे रहा था 

 सब कुछ कितना अदभुत है


किसी और दिन और कल्पना करूंगा बुरा मानने की जरुरत नहीं है

No comments:

Post a Comment