Friday, 6 April 2018

Read it once 1 मिनट लगेगा आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना

Read it once.

1 मिनट लगेगा आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना    

It will take 1 minute if there is no major change in your life.

https://goo.gl/UNfayX
😳😳😳😳😳😳😳


*एक शख्स गाड़ी से उतरा.. और बड़ी तेज़ी से एयरपोर्ट में घुसा , जहाज़ उड़ने के लिए तैयार था , उसे किसी कांफ्रेंस मे पहुंचना था जो खास उसी के लिए  आयोजित की जा रही थी.....
*वह अपनी सीट पर बैठा और जहाज़ उड़ गया...अभी कुछ दूर ही जहाज़ उड़ा था कि....कैप्टन ने ऐलान किया  , तूफानी बारिश और बिजली की वजह से जहाज़ का रेडियो सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा....इसलिए हम क़रीबी एयरपोर्ट पर उतरने के लिए मजबूर हैं.
*जहाज़ उतरा वह बाहर निकल कर कैप्टन से शिकायत करने लगा कि.....उसका एक-एक मिनट क़ीमती है और होने वाली कांफ्रेन्स में उसका पहुँचना बहुत ज़रूरी है....पास खड़े दूसरे मुसाफिर ने उसे पहचान लिया....और बोला डॉक्टर पटनायक  आप जहां पहुंचना चाहते हैं.....टैक्सी द्वारा यहां से केवल तीन घंटे मे पहुंच सकते हैं.....उसने शुक्रिया अदा किया और टैक्सी लेकर निकल पड़ा...

*लेकिन ये क्या आंधी , तूफान , बिजली , बारिश ने गाड़ी का चलना मुश्किल कर दिया , फिर भी ड्राइवर चलता रहा...

*अचानक ड्राइवर को एह़सास हुआ कि वह रास्ता भटक चुका है...
*ना उम्मीदी के उतार चढ़ाव के बीच उसे एक छोटा सा घर दिखा....इस तूफान में वहीं ग़नीमत समझ कर गाड़ी से नीचे उतरा और दरवाज़ा खटखटाया....
*आवाज़ आई....जो कोई भी है अंदर आ जाए..दरवाज़ा खुला है...

*अंदर एक बुढ़िया आसन बिछाए भगवद् गीता पढ़ रही थी...उसने कहा ! मांजी अगर इजाज़त हो तो आपका फोन इस्तेमाल कर लूं...

*बुढ़िया मुस्कुराई और बोली.....बेटा कौन सा फोन ?? यहां ना बिजली है ना फोन..
*लेकिन तुम बैठो..सामने चरणामृत है , पी लो....थकान दूर हो जायेगी..और खाने के लिए भी कुछ ना कुछ फल मिल जायेगा.....खा लो ! ताकि आगे सफर के लिए कुछ शक्ति आ जाये...

*डाक्टर ने शुक्रिया अदा किया और चरणामृत पीने लगा....बुढ़िया अपने पाठ मे खोई थी कि उसके पास उसकी नज़र पड़ी....एक बच्चा कंबल मे लपेटा पड़ा था जिसे बुढ़िया थोड़ी थोड़ी देर मे हिला देती थी...
*बुढ़िया फारिग़ हुई तो उसने कहा....मांजी ! आपके स्वभाव और एह़सान ने मुझ पर जादू कर दिया है....आप मेरे लिए भी दुआ कर दीजिए....यह मौसम साफ हो जाये मुझे उम्मीद है आपकी दुआऐं ज़रूर क़बूल होती होंगी...

*बुढ़िया बोली....नही बेटा ऐसी कोई बात नही...तुम मेरे अतिथी हो और अतिथी की सेवा ईश्वर का आदेश है....मैने तुम्हारे लिए भी दुआ की है.... परमात्मा का शुक्र है....उसने मेरी हर दुआ सुनी है..
*बस एक दुआ और मै उससे माँग रही हूँ शायद  जब वह चाहेगा उसे भी क़बूल कर लेगा...

 *कौन सी दुआ..?? डाक्टर बोला...

*बुढ़िया बोली...ये जो 2 साल का बच्चा तुम्हारे सामने अधमरा पड़ा है , मेरा पोता है , ना इसकी मां ज़िंदा है ना ही बाप , इस बुढ़ापे में इसकी ज़िम्मेदारी मुझ पर है , डाक्टर कहते हैं...इसे कोई खतरनाक रोग है जिसका वो इलाज नहीं कर सकते , कहते हैं एक ही नामवर डाक्टर है , क्या नाम बताया था उसका !
*हां "डॉ पटनायक " ....वह इसका ऑप्रेशन कर सकता है , लेकिन मैं बुढ़िया कहां उस डॉ तक पहुंच सकती हूं ? लेकर जाऊं भी तो पता नही वह देखने पर राज़ी भी हो या नही ? बस अब बंसीवाले से ये ही माँग रही थी कि वह मेरी मुश्किल आसान कर दे..!!

*डाक्टर की आंखों से आंसुओं का सैलाब बह रहा है....वह भर्राई हुई आवाज़ मे बोला !
 *माई...आपकी दुआ ने हवाई जहाज़ को नीचे उतार लिया , आसमान पर बिजलियां कौधवा दीं , मुझे रस्ता भुलवा दिया , ताकि मैं यहां तक खींचा चला आऊं ,हे भगवान! मुझे यकीन ही नहीं हो रहा....कि कन्हैया एक दुआ क़बूल करके अपने भक्तौं के लिए इस तरह भी मदद कर सकता है.....!!!!

दोस्तों वह सर्वशक्तिमान है....परमात्मा के बंदो उससे लौ लगाकर तो देखो...जहां जाकर इंसान बेबस हो जाता है , वहां से उसकी परमकृपा शुरू होती है...।

यह आप सबसे अधिक लोगो को भेजे ताकि मुझ जैसे लाखो लोगों की आँखे खुले..


https://goo.gl/UNfayX









* A man landed by the car .. and he entered the airport in a hurry, the ship was ready to fly, he had to reach a conference that was specially organized for him .....
* He sat on his seat and the Airplane flew away ... It was just a few miles away ... Captain announced, due to stormy rain and electricity the Airplane's radio system is not working properly ... Therefore, we are forced to land at the Abu  Airport.
* He got out of the boat and started complaining to the Captain that he is worth a minute or so and to reach the conference, it is very important .... Another passenger standing nearby recognized him ... And talk about where Doctor Patnaik, where you want to reach ... can be reached by taxi in just three hours ... He thanked and went out with a taxi ...

* But this storm, hurricane, lightning, rain made it difficult to walk, but the driver continued ...
Suddenly the driver realized that he had lost his way ...
* Seeing him a small house in between the ups and downs of the candlelight .... In the storm, he got down from the car and started knocking on the door.
* I got the voice ... whoever is in. The door is open ...

* Inside an old posture, Bhagavad was reading Geeta ... she said! If you have permission, use your phone ...

* Smiling and bidding ... Son Which Phone ?? There is no electricity or no phone here.
* But you sit..it is clean, drink ... fatigue will get tired .. and you will get some fruit to eat ... Eat it! So that some power comes for the journey ...

* The doctor thanked him and he was drinking tea. The old lady was lost in her text, she had a look at her .... A child was wrapped in a blanket, the old lady shouted in a little while ...
* When the old Farighe happened, she said .... Manji! Your nature and affection have made magic on me .... You pray for me too .... The weather will be clearer, I hope your prayers will be cleared ...

* Old quote .... No son is not such a thing ... you are my guest and the order of God is the order of God ... I have prayed for you too .... thank god ... He has listened to me every single day.
* Just a darling and I'm asking for it, maybe even when he wants to accept it ...

 * Which dua .. ?? Talk to doctor ...

* Old quote ... This 2 year old child who has had a dull presence in front of you, is my grandson, neither his mother is alive nor his father, it is in my old age, the doctor says ... it is a dangerous disease He can not do the treatment, says he is the only name doctor, what was his name!
Yes, "Dr. Patnaik" .... he can do an operation, but where can I reach that Dr. old lady? I do not even know if he should be able to see or not? It was just asking from Bansiwala that he would make my difficult easy .. !!

* A doctor's eyes are blowing a tears ....
 * Mai ... Your duo took down the plane, woke up on the sky, forgot me the road, so that I could get pulled up here, oh my God! I am not sure ... that Kanhaiya can accept a dua and help her devotees like this also ..... !!!!


Friends are almighty .... Look at the flame of God, flame it out ... Where the human being becomes helpless, from there, His love begins ... This is the message that most people send me to millions of people Eyes open ..













एक बार जरूर पढ़ें..

1 मिनट लगेगा आपकी जिंदगी में बड़ा परिवर्तन न आ जाये तो कहना    

https://goo.gl/UNfayX


http://golgpppa.blogspot.ca/2018/04/read-it-once.html
                               
😳😳😳😳😳😳😳

*एक शख्स गाड़ी से उतरा.. और बड़ी तेज़ी से एयरपोर्ट में घुसा , जहाज़ उड़ने के लिए तैयार था , उसे किसी कांफ्रेंस मे पहुंचना था जो खास उसी के लिए  आयोजित की जा रही थी.....
*वह अपनी सीट पर बैठा और जहाज़ उड़ गया...अभी कुछ दूर ही जहाज़ उड़ा था कि....कैप्टन ने ऐलान किया  , तूफानी बारिश और बिजली की वजह से जहाज़ का रेडियो सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहा....इसलिए हम क़रीबी एयरपोर्ट पर उतरने के लिए मजबूर हैं.
*जहाज़ उतरा वह बाहर निकल कर कैप्टन से शिकायत करने लगा कि.....उसका एक-एक मिनट क़ीमती है और होने वाली कांफ्रेन्स में उसका पहुँचना बहुत ज़रूरी है....पास खड़े दूसरे मुसाफिर ने उसे पहचान लिया....और बोला डॉक्टर पटनायक  आप जहां पहुंचना चाहते हैं.....टैक्सी द्वारा यहां से केवल तीन घंटे मे पहुंच सकते हैं.....उसने शुक्रिया अदा किया और टैक्सी लेकर निकल पड़ा...

*लेकिन ये क्या आंधी , तूफान , बिजली , बारिश ने गाड़ी का चलना मुश्किल कर दिया , फिर भी ड्राइवर चलता रहा...

*अचानक ड्राइवर को एह़सास हुआ कि वह रास्ता भटक चुका है...
*ना उम्मीदी के उतार चढ़ाव के बीच उसे एक छोटा सा घर दिखा....इस तूफान में वहीं ग़नीमत समझ कर गाड़ी से नीचे उतरा और दरवाज़ा खटखटाया....
*आवाज़ आई....जो कोई भी है अंदर आ जाए..दरवाज़ा खुला है...

*अंदर एक बुढ़िया आसन बिछाए भगवद् गीता पढ़ रही थी...उसने कहा ! मांजी अगर इजाज़त हो तो आपका फोन इस्तेमाल कर लूं...

*बुढ़िया मुस्कुराई और बोली.....बेटा कौन सा फोन ?? यहां ना बिजली है ना फोन..
*लेकिन तुम बैठो..सामने चरणामृत है , पी लो....थकान दूर हो जायेगी..और खाने के लिए भी कुछ ना कुछ फल मिल जायेगा.....खा लो ! ताकि आगे सफर के लिए कुछ शक्ति आ जाये...

*डाक्टर ने शुक्रिया अदा किया और चरणामृत पीने लगा....बुढ़िया अपने पाठ मे खोई थी कि उसके पास उसकी नज़र पड़ी....एक बच्चा कंबल मे लपेटा पड़ा था जिसे बुढ़िया थोड़ी थोड़ी देर मे हिला देती थी...
*बुढ़िया फारिग़ हुई तो उसने कहा....मांजी ! आपके स्वभाव और एह़सान ने मुझ पर जादू कर दिया है....आप मेरे लिए भी दुआ कर दीजिए....यह मौसम साफ हो जाये मुझे उम्मीद है आपकी दुआऐं ज़रूर क़बूल होती होंगी...

*बुढ़िया बोली....नही बेटा ऐसी कोई बात नही...तुम मेरे अतिथी हो और अतिथी की सेवा ईश्वर का आदेश है....मैने तुम्हारे लिए भी दुआ की है.... परमात्मा का शुक्र है....उसने मेरी हर दुआ सुनी है..
*बस एक दुआ और मै उससे माँग रही हूँ शायद  जब वह चाहेगा उसे भी क़बूल कर लेगा...

 *कौन सी दुआ..?? डाक्टर बोला...

*बुढ़िया बोली...ये जो 2 साल का बच्चा तुम्हारे सामने अधमरा पड़ा है , मेरा पोता है , ना इसकी मां ज़िंदा है ना ही बाप , इस बुढ़ापे में इसकी ज़िम्मेदारी मुझ पर है , डाक्टर कहते हैं...इसे कोई खतरनाक रोग है जिसका वो इलाज नहीं कर सकते , कहते हैं एक ही नामवर डाक्टर है , क्या नाम बताया था उसका !
*हां "डॉ पटनायक " ....वह इसका ऑप्रेशन कर सकता है , लेकिन मैं बुढ़िया कहां उस डॉ तक पहुंच सकती हूं ? लेकर जाऊं भी तो पता नही वह देखने पर राज़ी भी हो या नही ? बस अब बंसीवाले से ये ही माँग रही थी कि वह मेरी मुश्किल आसान कर दे..!!

*डाक्टर की आंखों से आंसुओं का सैलाब बह रहा है....वह भर्राई हुई आवाज़ मे बोला !
 *माई...आपकी दुआ ने हवाई जहाज़ को नीचे उतार लिया , आसमान पर बिजलियां कौधवा दीं , मुझे रस्ता भुलवा दिया , ताकि मैं यहां तक खींचा चला आऊं ,हे भगवान! मुझे यकीन ही नहीं हो रहा....कि कन्हैया एक दुआ क़बूल करके अपने भक्तौं के लिए इस तरह भी मदद कर सकता है.....!!!!

दोस्तों वह सर्वशक्तिमान है....परमात्मा के बंदो उससे लौ लगाकर तो देखो...जहां जाकर इंसान बेबस हो जाता है , वहां से उसकी परमकृपा शुरू होती है...।

यह आप सबसे अधिक लोगो को भेजे ताकि मुझ जैसे लाखो लोगों की आँखे खुले..

https://goo.gl/UNfayX

No comments:

Post a Comment